मनीला  । दक्षिण चीन सागर में चीन और फिलीपींस के बीच विवाद लगातार गंभीर होता जा रहा है। अब फिलीपींस के राष्ट्रपति रोड्रिगो दुतेर्ते ने चीन से बढ़ते खतरे को लेकर अपने ही अंदाज में जवाब दिया है। उन्होंने कहा कि दक्षिण चीन सागर में चीन के साथ युद्ध के अलावा और कोई रास्ता नहीं है। दुतेर्ते ने फिलीपींस की नौसेना की तैनाती का ऐलान करते हुए कहा कि यह संघर्ष बिना किसी खून-खराबे के अब खत्म नहीं होने वाला है। फिलीपींस के राष्ट्रपति ने रक्षा मंत्री डेल्फिन लोरेन्जाना के साथ अपने पूरे मंत्रिमंडल को बताया कि हम दक्षिणी चीन सागर में अपन क्षेत्र को केवल शक्ति के जरिए ही वापस ले सकते हैं। इसके बिना इस क्षेत्र को वापस लेने का कोई दूसरा रास्ता नहीं है। हम बिना किसी रक्तपात के फिलीपीन सागर को वापस पाने के लिए कोई रास्ता नहीं निकाल सकते हैं। उन्होंने यह भी कहा कि हो सकता है कि इस हिंसा के दौरान हम जीत न सकें।
पहली बार स्वीकारा चीनी कब्जा
टीवी पर प्रसारित किए गए इस संबोधन में फिलीपींस के राष्ट्रपति रोड्रिगो दुतेर्ते ने पहली बार सार्वजनिक रूप से जुलिना फेलिप रीफ पर चीनी नौकाओं की मौजूदगी को स्वीकार किया है। इस द्वीप पर दशकों से फिलीपींस का नियंत्रण था, लेकिन पिछले कुछ समय से चीनी नौसेना के अंतर्गत काम करने वाली मिलिशिया की नौकाओं ने इस रीफ को घेर रखा है।
चीन मानता है अपना हिस्सा
चीन इसे दक्षिण चीन सागर के स्प्रैटली द्वीप समूह के व्हिटसन रीफ का हिस्सा मानता है। जुलिना फेलिप रीफ पर कब्जे के लिए फिलीपींस की नौसेना ने कई बार प्रयास भी किया है, लेकिन हर बार उन्हें चीनी नौकाओं ने खदेड़ दिया। फिलीपींस के रक्षा मंत्री डेल्फिन लोरेन्जाना ने कहा कि हम चाहें कितनी भी बार उस द्वीप के नजदीक जाएं, लेकिन हम उसपर कब्जा नहीं जमा सके हैं।