मुंबई । अभिनेत्री प्रियंका चोपड़ा जोनस ‎निडरता से भारत और विदेशों में अपने करियर को आगे बढ़ाना चाहती हैं। अभिनेत्री का कहना है किवह पहले से थोड़ी ज्यादा रचनात्मक और निडर हो गई हैं। पिछले कुछ वर्षों में उनमें एक अलग तरह का आत्मविश्वास आया है। प्रियंका ने बताया ‎कि "मुझे लगता है कि मैं थोड़ी अधिक निडर हो गई हूं। मुझे नहीं पता कि वैश्विक मनोरंजन के लिए क्या करना है, लेकिन पिछले कुछ सालों में मिले आत्मविश्वास के कारण मुझे लगता है कि मैं उस जगह पर हूं जहां मैं चांस ले सकती हूं। मैं अब सुरक्षित चीजों से चिपकी नहीं रहती हूं। मैं अब खुद को क्रिएटिव और स्वतंत्र महसूस कर रही हूं। साथ ही ऐसा महसूस कर रही हूं कि मैं बहुत सारी चीजें करना चाहती हूं।" उन्होंने आगे कहा ‎कि "पहली बार मेरे पास कहानी कहने की क्षमता है और मैं इसका फायदा उठा रही हूं। मुझे नहीं पता कि ये कैसे हुआ लेकिन अब मैं रचनात्मक तौर पर बहुत ही अच्छी जगह पर हूं।" ‎प्रियंका बताती हैं ‎कि "जब 10 साल पहले मैंने 'द व्हाइट टाइगर' पढ़ी थी तो मैं काफी समय तक इसके प्रभाव में रही थी। जब मुझे पता चला कि इस पर फिल्म बन रही है तो मुझे लगा कि मुझे इस फिल्म का हिस्सा बनना है। वैसे मेरा किरदार फिल्म का अभिन्न हिस्सा नहीं है। यह बलराम की फिल्म है लेकिन उसका हमारे किरदारों के साथ रिश्ता है। मुझे लगता है कि यह फिल्म बहुत ही प्रासंगिक है।" अ‎भिनय की बात करें तो हाल ही में अ‎भिनेत्री ने एक हॉलीवुड फिल्म "इजंट इन रोमांटिक" में सहायक अभिनेत्री की भूमिका निभाई है। इसके अलावा उन्होंने "द स्काई इज पिंक" में फरहान अख्तर के साथ अभिनय किया है।